शिव सेना के बाद अब एलजेपी ने बढ़ाईं बीजेपी की मुश्किलें

बीजेपी की सहयोगी एलजेपी ने कहा है कि वो झारखंड विधानसभा के चुनाव में 50 सीटों पर लड़ेगी. इससे पहले बीजेपी की एक और सहयोगी जेडीयू ने भी झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा की थी.

बीजेपी अभी शिव सेना के झटके से उबर भी नहीं पाई थी कि उसके एक और सहयोगी लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने मुश्किलें पैदा कर दी हैं. 

अपनी पार्टी के झारखंड के नेताओं से मिलते चिराग पासवान. फाइल फोटो.

एलजेपी के नए-नए चुने गए अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने आज कहा कि उनकी पार्टी झारखंड में 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. 

पासवान ने कहा, ” पार्टी की राज्य इकाई ने झारखंड का विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है. यह तय किया गया है कि पार्टी राज्य की 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.”

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए एलजेपी भाजपा के साथ गठबंधन करने के लिए उत्सुक थी. लेकिन बीजेपी ने बहुत अधिक भाव नहीं दिया. बीजेपी नेताओं को लगता है कि एलजेपी के पास राज्य में बहुत कुछ है नहीं. 

हालांकि झारखंड के पड़ोसी राज्य बिहार में बीजेपी और एलजेपी के बीच गठबंधन है. वहीं बिहार में बीजेपी की एक और सहयोगी जेडीयू ने झारखंड विधानसभा का चुनाव अकले लड़ने का फैसला पहले कर लिया था. 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ लोजपा के संस्थापक रामविलास पासवान और चिराग पासवान.

इसके साथ ही बीजेपी को झारखंड उस समय भी झटका लगा, जब उसकी सहयोगी आल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) ने सोमवार को अकेले ही अपने कुछ उम्मीदवारों की घोषणा कर दी. आजसू ने जिन सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की है, उनमें से कुछ बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की सीटें हैं. 

बीजेपी के नेता अपने सहयोगियों को मनाने की कोशिशों में जुट गए हैं. राज्य में चुनाव प्रचार शुरू हो गया है. 

झारखंड विधानसभा की 81 सीटों पर पांच चरण में मतदान कराया जाएगा. पहला चरण 30 नवंबर को होगा और अंतिम चरण 20 दिसंबर को होगा. मतगणना 23 दिसंबर को कराई जाएगी.

Source:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *